Breaking News
मुख्यमंत्री योगी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश बना उत्तम प्रदेश : भाजपा  |  "देवभूमि"उत्तराखण्ड का इतिहास  |  देश विदेश सड़क सुरक्षा जागरूकता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्यों के लिए चैलेंजर्स ग्रुप को किया गया सम्मानित  |  जल्द ही बनेगा जेवर विधानसभा में बड़ा अस्पताल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगें शिलान्यास - प्रदेश स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह !  |  ओलंपियन पहलवान सुशील कुमार खूनी दंगल में चित्त, हत्या के आरोप में फरार  |  मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, Remdesivir की 4.5 लाख खुराक का होगा आयात, लगेगी अब कोरोना पर लगाम  |  हमारा परिवार पूर्वी दिल्ली इकाई द्वारा वार्षिकोत्सव बड़ी ही धूमधाम से सम्पन्न हुआ  |  एम०एस०पी० निरंतर बढती रहेगी, मंडियां होंगी अधिक मजबूत और किसानों की आय बढ़ेगी भ्रम भी होगा दूर - राजकुमार चाहर (सांसद)-राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजपा किसान मोर्चा  |  लव जिहाद और धर्मांतरण पर सख्त हुई योगी सरकार ने नए अध्यादेश को दी मंजूरी, अब नाम छिपाकर शादी की तो होगी 10 साल कैद !   |  चौधरी चरण सिंह की विरासत को डुबोता परिवार !  |  
राष्ट्रीय
By   V.K Sharma 18/05/2018 :11:23
मानव जीवन में अधिकारों के साथ-साथ कत्र्तव्य भी होते है
 
सोनीपत जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण के सचिव एवं सीजेएम तय्यब हुसैन ने कहा कि मानव जीवन में अधिकारों के साथ-साथ कत्र्तव्य भी होते है इसलिए मनुष्य को अच्छी सोच के साथ सत्कर्म करने चाहिए ताकि जीवन को सुधारा व उपयोगी बनाया जा सके।

श्री हुसैन आज जिला कारागार सोनीपत में डीएलसीए द्वारा सजायाफ्ता व अंडर ट्रायल महिलाओं व बच्चों के अधिकारों व सुविधाओं देने के लिए आयोजित दस दिवसीय जागरूकता अभियान का शुभारंभ करने के बाद संबोधन कर रहे थे। उन्होंने कहा कि महिला कैदियों व बच्चों की देखरेख, उनके कानूनी अधिकारों के लिए जिला जेल परिसर में 26 मई तक जागरूकता व जांच शिविर लगाए जाएंगे। इनमें संबंधित विभागों की टीम के माध्यम से आधार कार्ड बनवाना, जन्म प्रमाण, बच्चों का स्कूल में दाखिला दिलवाना, स्वास्थ्य जांच व अन्य सुविधाएं देने के साथसाथ महिलाओं व बच्चों के कानूनी पहलूओं के बारे में भी जानकारी दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि सही या गलत करने के बावजूद भी हम सब इंसान हैं इसलिए मानवीय व्यवहार अच्छा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि अपनी अंतर आत्मा से सोंचे कि गलती की सजा भुगतने या उसके बाद सकारात्मक सोच के साथ अपने अंदर सुधार लाकर जीवन को सही बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि बच्चों का स्कूल जाना उनका मौलिक व कानूनी अधिकार है। उन्होंने महिला बंधियों की समस्याएं भी जानी और मौके पर ही संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए ताकि महिलाओं को कोई परेशानी न हो और उन्हें उनके अधिकार मिलें। उन्होंने जेल के स्टोर, रसोई घर, पुस्तकालय व कम्ह्रश्वयूटर कक्ष, पाकशाला, महिला वार्ड के शयन कक्ष आदि का भी निरीक्षण किया और सुविधाओं को भी जायजा लिया। इससे पूर्व शिविर में जेल अधीक्षक सतविन्दर कुमार ने जेल में दी जा रही सुविधाओं बारे जानकारी दी। इस शिविर में जिला समाज कल्याण अधिकारी महाबीर प्रसाद गोदारा ने महिलाओं के लिए समाज कल्याण की स्कीमों बारे, डीसीपीओ ऑफिस से रेखा शर्मा ने महिला व बाल सरंक्षण बारे, डिह्रश्वटी सिविल सर्जन डॉ0 सीताराम ने स्वास्थ्य बारे, पैनल एडवोकेट मीनू रानी ने कानूनी अधिकारों व मुफ्त कानूनी सहायता बारे, पीएनबी आरसेठी के अशोक कुमार गांधी ने महिला स्वरोजगार बारे, ब्रैक थ्रो एनजीओ के मुकेश एवं मंथन आर्ट ग्रुप एनजीओ के दीपक ने भी अपने विचार सांझा किए।

इस मौके पर पैनल एडवोकेट रीटा दहिया व सुमन दहिया, डीआईपीआरओ सुरेन्द्र कुमार वर्मा, डिह्रश्वटी डीईओ रामफल धनखड़, डीएसीए के सहायक अशोक कुमार, संदीप बत्रा, जेल से रामचन्द्र, मांगेराम एवं अन्य स्टाफ मौजूद रहा। उल्लेखनीय है कि शिविरों को लेकर वकीलों तथा डॉक्टर व अन्य अधिकारियों की ड्यूटी
निर्धारित कर दी गई हैं जो 26 मई तक अलग- अलग दिनों में अपनी सेवाएं व सुविधाएं महिला बंदियों व बच्चों को देंगे।



V.K Sharma
Editor in Chief
Live Tv
»»
Video
»»
Top News
»»
विशेष
»»


Copyright @ News Ground Tv