Breaking News
ओलंपियन पहलवान सुशील कुमार खूनी दंगल में चित्त, हत्या के आरोप में फरार  |  ICMR की नई गाइडलाइंस:- स्वस्थ लोगों से आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट नहीं मांगे राज्य  |  बैंक से इतने रुपये कैश निकालने पर देना होगा टैक्स  |  LPG गैस सिलेंडर 1 मई से हुआ सस्ता  |  मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, Remdesivir की 4.5 लाख खुराक का होगा आयात, लगेगी अब कोरोना पर लगाम  |  हमारा परिवार पूर्वी दिल्ली इकाई द्वारा वार्षिकोत्सव बड़ी ही धूमधाम से सम्पन्न हुआ  |  एम०एस०पी० निरंतर बढती रहेगी, मंडियां होंगी अधिक मजबूत और किसानों की आय बढ़ेगी भ्रम भी होगा दूर - राजकुमार चाहर (सांसद)-राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजपा किसान मोर्चा  |  लव जिहाद और धर्मांतरण पर सख्त हुई योगी सरकार ने नए अध्यादेश को दी मंजूरी, अब नाम छिपाकर शादी की तो होगी 10 साल कैद !   |  चौधरी चरण सिंह की विरासत को डुबोता परिवार !  |  दलितों पर राजनीति करती आम आदमी पार्टी और कांग्रेस की सरकार - आदेश गुप्ता  |  
मनोरंजन
By   V.K Sharma 29/05/2018 :14:07
रमैया वस्तावैया का असली अर्थ आपके दिल को छू लेगा
 
कुछ गाने ऐसे होते है जिनको को हम गुनगुनाते है पर उनका शाब्दिक अर्थ पता नही होता बस वो गीत सुनने में ओर गाने में अच्छा लगता है। आइये हम आपको बतलाते है वर्ष 1955 में राजकपूर और नर्गिस अभिनीत फ़िल्म श्री 420 का एक बेहद लोकप्रिय गीत है

रमैया वस्तावैया का असली अर्थ आपके दिल को छू लेगा

 न्यूज़ ग्राउंड (नई दिल्ली) सुजाता मिश्रा : कुछ गाने ऐसे होते है जिनको को हम गुनगुनाते है पर उनका शाब्दिक अर्थ पता नही होता बस वो गीत सुनने में ओर गाने में अच्छा लगता है। आइये हम आपको बतलाते है  वर्ष 1955 में राजकपूर और नर्गिस अभिनीत फ़िल्म श्री 420 का एक बेहद लोकप्रिय गीत है "रमैया वस्तावैया - रमैया वस्तावैया - मैंने दिल तुझको दिया" का असली अर्थ...  क्या आप जानते हैं  इस गीत में "रमैया वस्तावैया एक  लोकप्रिय तेलगू  उद्धरण है  और क्या आप इस उद्धरण का अर्थ जानते हैं? "राम" तो तेलगू  भाषा ही क्या क्या समस्त देश -दुनियाँ  मे एक लोकप्रिय और सुप्रसिद्ध  नाम है  और विशेषण भी है।  "अइय्या"  का इस्तेमाल तेलगू में पुल्लिंग(पुरूष) के प्रति प्रेम और सम्मान हेतु प्रयोग किया जाता है ,जबकि ''वस्तावैया"  का अर्थ हुआ क्या तुम आओगे? अथवा तुम कब आओगे?

राम +अइय्या +वस्तावैया = रमैया वस्तावैया -- राम तुम कब आओगे? अथवा राम तुम आओगे?

भक्तिकाल से ही महाराष्ट्र में  तेलगूभाषी द्रविड़ जनसंख्या भी बड़े पैमाने पर मौजूद  है , जिनमे मछुआरे भी शामिल हैं। सम्भवतः इसी द्रविड़ प्रभाव के चलते गीतकार शैलेंद्र  ने इस उद्धरण का प्रयोग किया, रोचक तथ्य यह है कि शैलेन्द्र खुद मूलतः रावलपिंडी से थे,जो कि अब पाकिस्तान अधिकृत पंजाब में है।

 



V.K Sharma
Editor in Chief
Live Tv
»»
Video
»»
Top News
»»
विशेष
»»


Copyright @ News Ground Tv