Breaking News
दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का 81 साल की उम्र में निधन, अस्पताल में पड़ा दिल का दौरा, कल होगा अंतिम संस्कार !   |  भारत रक्षा मंच के स्थापना दिवस पर विचार गोष्ठी का आयोजन   |  बाबरपुर विधायक मोहल्ला क्लीनिक के नाम घोटालों को दे रहे है अंजाम---वी के शर्मा  |  गोरखपुर: गाड़ी न मिलने पर निकाह के बाद हुआ जमकर हंगामा   |  जे.पी.नड्डा बने भाजपा के नए राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष , शाह बने रहेंगे पार्टी चीफ !   |  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पीएमओ स्टाफ को संबोधित करते हुए कहा "थैंक्यू" बोले - समर्पित टीम के बिना नहीं मिलता परिणाम, खुद के अंदर लीडरशिप होना बहुत जरूरी - पीएम मोदी   |  पीएम मोदी को NDA संसदीय दल ने चुना अपना नेता , राष्ट्रपति से मिलकर पेश किया सरकार बनाने का दावा , कहा सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास हमारा मंत्र - मोदी  |  CBSE Board 2019 : 10वीं और 12वीं कंपार्टमेंट की डेटशीट जारी, जाने पूरी जानकारी ।  |  शिव की भक्ति में लीन पीएम मोदी पहुंचे केदारनाथ धाम ,पूजा-अर्चना के बाद लिया पुनर्निर्माण कार्यों का जायजा,12250 फीट की ऊंचाई पर गुफा में करेंगे ध्यान !   |  गोरखपुर: लोकसभा चुनाव 2019 को शांतिपूर्ण कराने के लिए पंजाब पुलिस ने किया फ्लैग मार्च  |  
कारोबार
By   V.K Sharma 19/05/2018 :14:17
सरकार की तरफ से गरीबो को राहत राशन की दुकानों पर एक साल और नहीं बढ़ेंगे अनाज के दाम
Total views  354
सरकार ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के अंतर्गत राशन की दुकानों पर मिलने वाले अनाज की कीमतों में बदलाव नहीं करने की घोषणा की है। खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने बताया कि सरकार ने एक साल और दाम नहीं बढ़ाने का फैसला किया है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत सरकार राशन की दुकानों पर मिलने वाले अनाज पर भारी-भरकम सब्सिडी देती है।

सरकार की तरफ से गरीबो को राहत राशन की दुकानों पर एक साल और नहीं बढ़ेंगे अनाज के दाम

 न्यूज़ ग्राउंड (नई दिल्ली) आकाश मिश्रा : सरकार ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के अंतर्गत राशन की दुकानों पर मिलने वाले अनाज की कीमतों में बदलाव नहीं करने की घोषणा की है। खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने बताया कि सरकार ने एक साल और दाम नहीं बढ़ाने का फैसला किया है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत सरकार राशन की दुकानों पर मिलने वाले अनाज पर भारी-भरकम सब्सिडी देती है। राशन की दुकानों पर चावल तीन रुपये, गेहूं दो रुपये और मोटे अनाज एक रुपये प्रति किलो की सस्ती दरों पर मिलते हैं। पासवान ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कीमतों को एक और साल तक नहीं बदलने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। उन्होंने कहा कि इस फैसले से सरकार ने गरीबों के हित को लेकर अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून संप्रग सरकार के कार्यकाल में 2013 में पारित हुआ था। इसमें हर तीन साल में कीमतों की समीक्षा की व्यवस्था है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली यानी पीडीएस एक भारतीय खाद्य सुरक्षा प्रणाली है। केंद्र में उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय और राज्य सरकारों की ओर से भारत के गरीबों को सब्सिडी वाले खाद्य एवं गैर-खाद्य वस्तुओं का वितरण किया जाता है। राशन की दुकानों के जरिए देशभर के कई राज्यों में खाद्य वस्तुओं मसलन अनाज, गेहूं, चावल, चीनी, और मिट्टी का तेल का उचित मूल्य पर वितरण किया जाता है। भारतीय खाद्य निगम, जो एक सरकारी स्वामित्व वाली निगम है, सार्वजनिक वितरण प्रणाली को संभालता है।

 



V.K Sharma
Editor in Chief
Live Tv
»»
Video
»»
Top News
»»
विशेष
»»


Copyright @ News Ground Tv