Breaking News
दलितों पर राजनीति करती आम आदमी पार्टी और कांग्रेस की सरकार - आदेश गुप्ता  |  भाजपा दिल्ली प्रदेश के नवनियुक्त पदाधिकारियों की घोषणा !  |  हाथरस पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे राहुल गांधी के काफिले को रोक पुलिस ने की लाठीचार्ज !  |  Unlock 5 Guideline: गृह मंत्रालय ने जारी करी अनलॉक 5 कि गाइडलाइन, जानें क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद !  |  हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद परिजनों में आक्रोश, जीभ काटने आंख फोड़ने जैसी कोई बात नहीं - आईजी   |  संगठन द्वारा सौंपी गई नई जिम्मेदारियों का मैं सच्ची निष्ठा से निर्वाहन करूंगा - तरुण चुग !  |  भाजपा के नवनियुक्त केंद्रीय पदाधिकारियों की घोषणा, यह रही सूची !  |  SSC ने घोषित की CHSL, CGL, JE, स्टेनो समेत सभी लंबित परीक्षाओं तारीख, 1 अक्टूबर से 31 अगस्त 2021 तक होंगे एग्जाम !  |  राफेल उड़ाने वाली पहली महिला पायलट होंगी वाराणसी की शिवांगी सिंह !   |  रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी का निधन 11 सिंतबर को हुए थे कोरोना पॉजिटिव !  |  
कारोबार
By   V.K Sharma 19/05/2018 :14:17
सरकार की तरफ से गरीबो को राहत राशन की दुकानों पर एक साल और नहीं बढ़ेंगे अनाज के दाम
 
सरकार ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के अंतर्गत राशन की दुकानों पर मिलने वाले अनाज की कीमतों में बदलाव नहीं करने की घोषणा की है। खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने बताया कि सरकार ने एक साल और दाम नहीं बढ़ाने का फैसला किया है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत सरकार राशन की दुकानों पर मिलने वाले अनाज पर भारी-भरकम सब्सिडी देती है।

सरकार की तरफ से गरीबो को राहत राशन की दुकानों पर एक साल और नहीं बढ़ेंगे अनाज के दाम

 न्यूज़ ग्राउंड (नई दिल्ली) आकाश मिश्रा : सरकार ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के अंतर्गत राशन की दुकानों पर मिलने वाले अनाज की कीमतों में बदलाव नहीं करने की घोषणा की है। खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने बताया कि सरकार ने एक साल और दाम नहीं बढ़ाने का फैसला किया है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत सरकार राशन की दुकानों पर मिलने वाले अनाज पर भारी-भरकम सब्सिडी देती है। राशन की दुकानों पर चावल तीन रुपये, गेहूं दो रुपये और मोटे अनाज एक रुपये प्रति किलो की सस्ती दरों पर मिलते हैं। पासवान ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कीमतों को एक और साल तक नहीं बदलने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। उन्होंने कहा कि इस फैसले से सरकार ने गरीबों के हित को लेकर अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून संप्रग सरकार के कार्यकाल में 2013 में पारित हुआ था। इसमें हर तीन साल में कीमतों की समीक्षा की व्यवस्था है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली यानी पीडीएस एक भारतीय खाद्य सुरक्षा प्रणाली है। केंद्र में उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय और राज्य सरकारों की ओर से भारत के गरीबों को सब्सिडी वाले खाद्य एवं गैर-खाद्य वस्तुओं का वितरण किया जाता है। राशन की दुकानों के जरिए देशभर के कई राज्यों में खाद्य वस्तुओं मसलन अनाज, गेहूं, चावल, चीनी, और मिट्टी का तेल का उचित मूल्य पर वितरण किया जाता है। भारतीय खाद्य निगम, जो एक सरकारी स्वामित्व वाली निगम है, सार्वजनिक वितरण प्रणाली को संभालता है।

 



V.K Sharma
Editor in Chief
Live Tv
»»
Video
»»
Top News
»»
ok
विशेष
»»


Copyright @ News Ground Tv