Breaking News
ओलंपियन पहलवान सुशील कुमार खूनी दंगल में चित्त, हत्या के आरोप में फरार  |  ICMR की नई गाइडलाइंस:- स्वस्थ लोगों से आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट नहीं मांगे राज्य  |  बैंक से इतने रुपये कैश निकालने पर देना होगा टैक्स  |  LPG गैस सिलेंडर 1 मई से हुआ सस्ता  |  मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, Remdesivir की 4.5 लाख खुराक का होगा आयात, लगेगी अब कोरोना पर लगाम  |  हमारा परिवार पूर्वी दिल्ली इकाई द्वारा वार्षिकोत्सव बड़ी ही धूमधाम से सम्पन्न हुआ  |  एम०एस०पी० निरंतर बढती रहेगी, मंडियां होंगी अधिक मजबूत और किसानों की आय बढ़ेगी भ्रम भी होगा दूर - राजकुमार चाहर (सांसद)-राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजपा किसान मोर्चा  |  लव जिहाद और धर्मांतरण पर सख्त हुई योगी सरकार ने नए अध्यादेश को दी मंजूरी, अब नाम छिपाकर शादी की तो होगी 10 साल कैद !   |  चौधरी चरण सिंह की विरासत को डुबोता परिवार !  |  दलितों पर राजनीति करती आम आदमी पार्टी और कांग्रेस की सरकार - आदेश गुप्ता  |  
न्यूज़ ग्राउंड विशेष
By   V.K Sharma 27/07/2020 :14:31
फ्रांस से भारत के लिए 5 राफेल विमान रवाना, 29 जुलाई तक अंबाला एयरबेस पहुंचेंगे !
 







नई दिल्ली (न्यूज़ ग्राउंड) आकाश मिश्रा : अत्याधुनिक मिसाइलों और घातक बमों से लैस भारतीय वायुसेना के सबसे घातक फाइटर जेट राफेल आज फ्रांस से भारत के लिए रवाना हो गए। बताया जा रहा है कि कुल 5 राफेल भारत के लिए रवाना हुए हैं। चीन और पाकिस्तान के साथ चल रहे तनाव के बीच इन फाइटर जेट का भारत के लिए रवाना होना काफी अहम माना जा रहा है। राफेल विमानों के रवाना होने से पहले फ्रांस में भारतीय दूतावास ने इन राफेल विमानों और इंडियन एयरफोर्स के जाबांज पायलटों की तस्वीर भी जारी की है। ये विमान 29 जुलाई को अंबाला में एयरफोर्स में शामिल किए जाएंगे। सूत्रों के मुताबिक एक हफ्ते के अंदर ही इन विमानों को किसी भी मिशन के लिए तैयार कर लिया जाएगा। इन फाइटर जेट को उड़ाने के लिए कुल 12 पायलटों को ट्रेनिंग दी गई है। दुनिया की सबसे घातक मिसाइलों और सेमी स्टील्थ तकनीक से लैस इन विमानों के भारतीय वायुसेना में शामिल होने से देश की सामरिक शक्ति में जबरदस्त इजाफा होगा। भारत आने वाले राफेल फाइटर जेट्स में दुनिया की सबसे आधुनिक हवा से हवा में मार करने वाली मीटिआर मिसाइल भी लगी होंगी। राफेल जेट फ्रांस के मेरिजनाक से भारत उड़कर आएंगे। भारतीय वायुसेना ने इसके लिए पूरी योजना तैयार कर ली है क्योंकि रास्ते में ये फाइटर जेट कई देशों की सीमाओं से होकर भारत के जामनगर पहुंचेंगे। राफेल विमान फ्रांस से भारत तक का सफर पूरा करने के दौरान लगभग 1000 किमी प्रतिघंटे की गति से उड़ान भरेंगे। हालांकि, राफेल की अधितकम स्पीड 2222 किमी प्रति घंटा है।ये भारतीय राफेल विमान फ्रांस के अबूधाबी स्थित अल धाफरा स्थित हवाई ठिकाने पर उतरेंगे। करीब 10 घंटे की इस यात्रा के दौरान हवा में तेल भरने के लिए दो विमान उनके साथ रहेंगे। ये विमान रातभर रुकने के बाद फिर भारत के लिए रवाना होंगे। इस यात्रा के दौरान दो बार हवा में तेल भरा जाएगा। पायलटों को हवा में तेल भरने की ट्रेनिंग भी दी जाएगी। भारत में पहुंचने के बाद ये विमान अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पहुंचेंगे। राफेल के पहले बेड़े को 17 गोल्डन एरो स्क्वॉड्रन के पायलट उड़ाएंगे। इनकी ट्रेनिंग भी फ्रांस में पूरी हो चुकी है। भारत सरकार ने 2016 में फ्रांस से 36 लड़ाकू राफेल विमानों का सौदा 60,000 करोड़ रुपए में किया था। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने पहला राफेल विमान फ्रांस के एक एयरबेस पर पिछले साल 8 अक्तूबर को प्राप्त किया था। अब जो पांच विमान भारत आ रहे हैं ये मई में ही आने वाले थे, लेकिन कोरोना वायरस महामारी को लेकर कुछ देरी हुई। 36 लड़ाकू विमानों में से 18 विमान फरवरी 2021 तक सौंप दिए जाएंगे, जबकि शेष विमान अप्रैल-मई 2022 तक सौंपे जाने की उम्मीद है। राजनाथ सिंह ने पिछले साल फ्रांस में कहा था, ''मुझे बताया गया है कि फ्रेंच 'शब्द राफेल का अर्थ 'आंधी है। मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि विमान अपने नाम को सार्थक करेगा।''



V.K Sharma
Editor in Chief
Live Tv
»»
Video
»»
Top News
»»
विशेष
»»


Copyright @ News Ground Tv