Breaking News
SSC ने घोषित की CHSL, CGL, JE, स्टेनो समेत सभी लंबित परीक्षाओं तारीख, 1 अक्टूबर से 31 अगस्त 2021 तक होंगे एग्जाम !  |  राफेल उड़ाने वाली पहली महिला पायलट होंगी वाराणसी की शिवांगी सिंह !   |  रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी का निधन 11 सिंतबर को हुए थे कोरोना पॉजिटिव !  |  योगी सरकार ने बढ़ाया सरकारी नौकरियों में आरक्षण का कोटा, अब इतनी सीटें होंगी रिजर्व !  |  सीएम योगी का बड़ा ऐलान उत्तर प्रदेश में बनाएंगे देश की सबसे खूबसूरत फिल्म सिटी !  |  टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड को मिला संसद की नई बिल्डिंग सेंट्रल विस्टा बनाने का कॉन्ट्रेक्ट, 862 करोड़ रुपए की आएगी लागत !  |  संसद में भाजपा सांसद रवि किशन ने उठाया रेलवे अस्पताल को मेडिकल कॉलेज में बदलने का मुद्दा  |  कंगना रनौत का जया बच्चन पर पलटवार - मेरी जगह आपकी बेटी और सुशांत की जगह आपका बेटा होता तो भी यही कहतीं?   |  योगी सरकार ने किया नई स्पेशल फोर्स का गठन, बिना वारंट तलाशी लेने, गिरफ्तार करने का अधिकार !  |  गृह मंत्री अमित शाह ने दी हिंदी दिवस की बधाई !  |  
न्यूज़ ग्राउंड विशेष
By   V.K Sharma 17/07/2020 :12:15
लद्दाख से राजनाथ सिंह का चीन को सख्त संदेश- दुनिया की कोई ताकत नहीं छीन सकती एक भी इंच जमीन !
 







नई दिल्ली (न्यूज़ ग्राउंड) आकाश मिश्रा : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार को सीमा के हालात की समीक्षा करने के लिए लद्दाख की यात्रा  पर पहुंचे हुए हैं. उन्होंने यहां पर कहा कि दोनों देशों के बीच मसले को सुलझाने के लिए बातचीत हो रही है, लेकिन बातचीत से कितना हल निकलेगा, अभी कह नहीं सकते. राजनाथ सिंह 15 जून को पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारतीय-चीनी सेनाओं के बीच हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों के जान गंवाने की घटना के एक महीने बाद लद्दाख पहुंचे हुए हैं. यहां जवानों से बातचीत के दौरान उन्होंने बहुत ही अहम टिप्पणी की है. रक्षा मंत्री ने कहा कि 'अभी तक जो बातचीत हुई है, मसला सुलझ जाना चाहिए....लेकिन मसला कहां तक सुलझेगा, मैं इसकी गारंटी नहीं दे सकता. हालांकि, मैं आपको भरोसा दिलाना चाहता हूं कि हमारी जमीन का एक इंच भी दुनिया की कोई शक्ति नहीं ले सकती है.' रक्षामंत्री ने जवानों को दिए अपने संबोधन में कहा, 'भारत एक ऐसा देश है, जिसने पूरी दुनिया में शांति का संदेश दिया है. हमने कभी किसी देश पर हमला नहीं किया है, न ही किसी दूसरे देश की जमीन पर कब्जा किया है. हम- पूरा विश्व एक परिवार है- संदेश में विश्वास करते हैं.' उन्होंने कहा, 'हमें हमारी सेना पर गर्व है. आज मैं आपके बीच आकर गर्वित महसूस कर रहा हूं. हमारे जवानों ने देश के लिए अपनी जान दे दी है. 130 करोड़ भारतीय इस क्षति से दुखी हैं. आज जब हम लद्दाख में हैं, मैं कारगिल के युद्ध में अपनी जान न्योछावर करने वाले जवानों को भी श्रद्धांजलि देना चाहता हूं.' रक्षा मंत्री का यह बयान ऐसे वक्त में आया है, जब भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव कम करने को लेकर बातचीत हो रही है. अभी दो दिन पहले ही दोनों देशों के बीच लेफ्टिनेंट जनरल रैंक के अधिकारियों के बीच चुशुल में चौथे चरण की बातचीत संपन्न हुई है. सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि इस बैठक में एलएसी (लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल) पर तनाव को लेकर बातचीत हुई है.



V.K Sharma
Editor in Chief
Live Tv
»»
Video
»»
Top News
»»
विशेष
»»


Copyright @ News Ground Tv