Breaking News
पीएम मोदी को NDA संसदीय दल ने चुना अपना नेता , राष्ट्रपति से मिलकर पेश किया सरकार बनाने का प्रस्ताव , कहा सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास हमारा मंत्र - मोदी  |  CBSE Board 2019 : 10वीं और 12वीं कंपार्टमेंट की डेटशीट जारी, जाने पूरी जानकारी ।  |  शिव की भक्ति में लीन पीएम मोदी पहुंचे केदारनाथ धाम ,पूजा-अर्चना के बाद लिया पुनर्निर्माण कार्यों का जायजा,12250 फीट की ऊंचाई पर गुफा में करेंगे ध्यान !   |  गोरखपुर: लोकसभा चुनाव 2019 को शांतिपूर्ण कराने के लिए पंजाब पुलिस ने किया फ्लैग मार्च  |  लोकसभा चुनाव 2019: छुटपुट हिंसा के बीच छठे चरण में 65.5% मतदान 7 राज्यों की 59 सीटों पर संपन्न हुआ, दिल्ली में 63.48% मतदान हुआ, जानिए किस राज्य में कितने प्रतिशत मतदान हुआ।  |  राहुल के गढ़ में स्मृति के समर्थन में अमित शाह ने किया रोड शो, गांधी परिवार पर कसे तंज !   |  दिल्ली/ रोड शो के दौरान युवक ने केजरीवाल को थप्पड़ मारा, सिसोदिया बोले- मोदी-शाह अब केजरीवाल की हत्या करवाना चाहते हैं?  |  कांग्रेस प्रत्याशी मकसूदन त्रिपाठी ने पिपराइच विधानसभा क्षेत्र में किया जनसंपर्क  |  CBSE Board 12th Result 2019: सीबीएसई 12वीं के नतीजे घोषित, ऐसे चेक करें 12वीं का रिजल्ट !  |  संयुक्त राष्ट्र के वैश्विक आतंकी घोषित होने के बाद कौड़ियों का मोहताज होगा मसूद, जानिए क्या होगा प्रतिबंधों का असर !  |  
अन्तरराष्ट्रीय
By   V.K Sharma 21/04/2019 :23:27
LIVE: श्रीलंका बम धमाकों में मरने वालों का आंकड़ा 293 पहुंचा, मृतकों में 7 भारतीय शामिल, 500 से अधिक घायल , 24संदिग्धाेंको को किया गिरफ्तार !
Total views  383








कोलंबो, श्रीलंका (न्यूज़ ग्राउंड) : श्रीलंका की राजधानी कोलंबो सहित देश के कई हिस्सों में  रविवार को एक के बाद एक आठ धमाकों व आत्मघाती हमलों से दहल उठा। ईसाइयों के पर्व ईस्टर के मौके पर विभिन्न चर्च और पांच सितारा होटलों को निशाना बनाकर किए गए आतंकी हमलों में कम से कम 293 लोगों की मौत हो गई और 500 अन्य घायल हो गए। मरने वालों में 37 विदेशी हैं, जिसमें 7 भारतीय शामिल हैं। मामले में 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इसे श्रीलंका के इतिहास में सबसे भयावह हमला माना जा रहा है। सरकार ने पूरे देश में कफ्र्यू लगा दिया है। पोप फ्रांसिस और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत विश्व के प्रमुख नेताओं ने इस कायराना हमले की कड़े शब्दों में निंदा की है।  रविवार देर रात पुलिसको कोलंबो एयरपोर्ट के पास छह फीट लंबापाइप बम मिला। इसे एयरफोर्स ने डिफ्यूज कर दिया। कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडीकुमारस्वामी ने भी कहा था किजेडीएस के सात नेताओं का दल कोलंबो गया था इनमें से दोलापता हैं। बाद में 2 नेताओं हनुमंतारायप्पा और रंगप्पा के हमलों में मारे जाने की पुष्टि हुई।एयरफोर्स के प्रवक्ता ग्रुप कैप्टन गिहान सेनेविरत्ने ने बताया कि एयरपोर्ट पर मिलाआईईडी स्थानीय स्तर पर बना था। बम के मिलने के बाद एयरपोर्ट जाने वाले लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। श्रीलंका की एयरलाइन कंपनियों ने भी कड़ी सुरक्षा जांच के चलते यात्रियों को फ्लाइट के उड़ान भरने से चार घंटे पहले एयरपोर्ट पहुंचने के निर्देश जारी कर दिए।

पुलिस प्रवक्ता रवान गुणसेकरा ने बताया कि छह धमाके सुबह 8:45 बजे लगभग एक ही समय पर हुए। देश में उस समय ईस्टर की तैयारियां जोरों पर थीं लेकिन धमाकों के कारण पूरा देश गम में डूब गया। सातवां और आठवां धमाका दोपहर बाद हुआ। पहला धमाका कोलंबो के सेंट एंथनी चर्च और पश्चिमी कस्बे नेगोंबो के सेंट सेबेस्टियन चर्च में हुआ। इसके बाद कोलंबो के तीन होटलों और फिर बट्टीकलोआ के एक चर्च में धमाके हुए। अधिकारियों ने अभी 207 लोगों के मरने की पुष्टि की है।

श्रीलंका सरकार ने पूरे देश में अगले आदेश तक के लिए कफ्र्यू लगा दिया। अफवाहों को फैलने से बचाने के लिए सोशल मीडिया पर भी अस्थायी रोक लगा दी गई है। हालात को देखते हुए सभी पुलिसकर्मियों, चिकित्सकों, नर्सो और स्वास्थ्य अधिकारियों की छुट्टियां रद कर दी गई हैं। स्कूल, कॉलेज भी अगले आदेश तक बंद रहेंगे। श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने हमले को कायराना बताया है। उन्होंने कहा कि देश फिर ऐसी हिंसा बर्दाश्त नहीं कर सकता। हम एक होकर इसका मुकाबला करेंगे।

मृतकों में भारतीय भी
श्रीलंका के विदेश सचिव रविनाथा अरियासिंघे ने बताया कि धमाकों में कम से कम 27 विदेशी नागरिकों की मौत हुई है। हमलों में तीन भारतीयों की मरने की खबर है। इनके नाम लक्ष्मी, नारायण चंद्रशेखर और रमेश बताए गए हैं। मृतकों में भारत के अलावा चीन के दो, पोलैंड, डेनमार्क, जापान, पाकिस्तान, अमेरिका, मोरक्को और बांग्लादेश के एक-एक नागरिक शामिल हैं। घायलों में भी कई विदेशी नागरिकों के होने की बात सामने आई है।

आत्मघाती हमले की पुष्टि नहीं
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस अभी पुष्टि करने की स्थिति में नहीं है कि सभी धमाके आत्मघाती थे या नहीं। हालांकि नेगोंबो चर्च में हुआ धमाका इस ओर संकेत करता है। एक अधिकारी ने बताया कि सिनामन ग्रैंड होटल के रेस्तरां में एक आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया। गुणसेकरा ने बताया कि संदेह के आधार पर सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

दोपहर बाद हुए दो धमाके
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि सातवां व आठवां धमाका दोपहर दो से ढाई बजे के बीच कोलंबो में हुआ। चिडि़याघर के पास हुए धमाके में दो लोगों की मौत हो गई। इसके बाद जब पुलिस टीम कोलंबो के ओरगोडावट्टा इलाके में तलाशी के लिए एक घर में पहुंची तो वहां आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया। इससे दो मंजिला घर की छत उड़ गई, जिसके मलबे के नीचे दब जाने से तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई।

मुस्लिम कट्टरपंथी संगठन पर संदेह
अभी किसी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। हालांकि संदेह जताया जा रहा है कि मुस्लिम कट्टरपंथी संगठन नेशनल तोहिथ जमात (एनटीजी) ने हमलों को अंजाम दिया है। पुलिस चीफ पूजुथ जयसुंदरा ने 11 अप्रैल को एनटीजी की ओर से ऐसे आत्मघाती हमलों की चेतावनी दी थी।

निशाने पर था भारतीय दूतावास
बताया जा रहा है कि आतंकियों के निशाने पर भारतीय दूतावास भी था। हालांकि मजबूत सुरक्षा व्यवस्था के कारण आतंकी मंसूबों को अंजाम नहीं दे पाए। इस बीच, कोलंबो में भारतीय उच्चायोग ने कहा कि वह श्रीलंका में हालात पर करीबी नजर बनाए हुए है। उच्चायोग ने हेल्पलाइन नंबर +94777902082 +94772234176 भी जारी किए हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने श्रीलंका में रविवार को हुए सिलसिलेवार धमाकों की निंदा करते हुए कहा कि क्षेत्र में बर्बरता के लिए कोई स्थान नहीं है. पीएम मोदी ने कहा कि भारत इस द्वीप राष्ट्र की जनता के साथ है. प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया,‘श्रीलंका में हुए भयावह विस्फोटों की निंदा करता हूं. हमारे क्षेत्र में इस प्रकार की बर्बरता के लिए कोई स्थान नहीं है.' उन्होंने कहा कि भारत एकजुटता से श्रीलंका के लोगों के साथ है. पीएम मोदी ने कहा मारे गए लोगों के परिजन के प्रति हमारी संवेदनाएं हैं तथा घायलों के लिए हमारी प्रार्थनाएं हैं.

बता दें कि विस्फोटों से 10 दिन पहले देश के पुलिस प्रमुख ने चेतावनी जारी कर कहा था कि आत्मघाती हमलावर ‘अहम गिरजाघरों' को निशाना बना सकते हैं. पुलिस प्रमुख पी. जयसुंदरा ने 11 अप्रैल को एक गुप्तचर चेतावनी शीर्ष अधिकारियों को भेजी थी. इस अलर्ट में कहा गया था कि एक विदेशी खुफिया एजेंसी ने जानकारी दी है कि एनटीजे (नेशनल तोहिद जमात) अहम गिरजाघरों और कोलंबो में भारतीय उच्चायोग पर फिदायीन हमले की योजना बना रहा है. एनटीजे श्रीलंका (Sri Lanka) का कट्टरपंथी मुस्लिम संगठन है. पिछले साल बुद्ध प्रतिमाओं को नुकसान पहुंचाने में इस संगठन का नाम सामने आया था. 



V.K Sharma
Editor in Chief
Live Tv
»»
Video
»»
Top News
»»
विशेष
»»


Copyright @ News Ground Tv