Breaking News
गोरखपुर: गुरुनानक के जयघोष से गुंजायमान रहा वातावरण,हर्षोल्लास से मना 550वां प्रकाश पर्व..  |  Ayodhya Case Verdict 2019: सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले से श्री राम का वनवास खत्म, मंदिर निर्माण का रास्ता साफ, कोर्ट में महत्वपूर्ण साबित हुईं ये दलीलें,पढ़िए पूर्ण विश्लेषण !  |  अयोध्या फैसले को लेकर भटहट क्षेत्र में लिया गया सुरक्षा का जायजा और लोगों से शांति बनाए रखने की गई अपील  |  श्री साधुमार्गी जैन श्रावक संघ द्वारा विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन A.I.I.M.S के तत्वाधान में किया गया।  |  गोरखपुर:चैनल में करंट उतर से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत  |  चुनाव आयोग ने महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव की तारीखों का किया ऐलान, ये 4 मुद्दे हो सकते हैं भाजपा के लिए गेमचेंजर !   |  दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव 2019 : अध्यक्ष समेत तीन सीटों पर ABVP की जबरदस्त जीत, NSUI को मिला सचिव पद !  |  रांची पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी, झारखंड को दी 7 नई सौगातें !   |  देहदान अंगदान समाज की एक बड़ी जरूरत - हर्ष मल्होत्रा  |  वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने जताया शोक, सुब्रमण्यम स्वामी ने लिखा- `अलविदा दोस्त`   |  
न्यूज़ ग्राउंड विशेष
By   V.K Sharma 26/03/2019 :13:24
विजय माल्या की बैंकों से अपील- मेरे पैसे लेकर जेट एयरवेज को बचा लो, नरेश गोयल ने छोड़ा पद, पत्नी अनिता भी बोर्ड से बाहर !
Total views  564

 

 

नई दिल्ली (न्यूज़ ग्राउंड) : भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या ने भारतीय बैंकों से अपील की है कि वो उसका पैसा लेकर संकटग्रस्त जेट एयरवेज को बचा लें। उसने दोहराया है कि मैंने कर्नाटक हाईकोर्ट के सामने प्रस्ताव रखा था कि सरकारी बैंकों और दूसरे कर्जदाताओं का बकाया चुकाने के लिए मेरी संपत्तियां बेच दी जाएं। बैंक ऐसा क्यों नहीं कर रहे? इससे कुछ और नहीं तो बैंकों को जेट एयरवेज को बचाने में मदद तो मिल ही जाएगी। कंपनी के चेयरमैन नरेश गोयल ने अपने पद से इस्तीाफा दे दिया है. वहीं नरेश गोयल की पत्नीय अनिता गोयल ने भी बोर्ड से दूरी बना ली है. वहीं जेट एयरवेज को बैंकों से तत्काल 1,500 करोड़ रुपये तक का आर्थिक मदद मिलेगी.जेट एयरवेज के निदेशक मंडल में बैंक दो सदस्यों को नामित करेंगे और एयरलाइन के दैनिक परिचालन के लिये अंतरिम प्रबंधन समिति बनाई जाएगी. वहीं स्पेइसजेट के मैनेजिंग डायरेक्टएर अजय सिंह ने जेट एयरवेज के ताजा घटनाक्रम को दुखद करार दिया है. उन्होंगने कहा कि आज एविएशन इंडस्ट्री  के लिए बेहद दुखद दिन है. नरेश गोयल और अनिता गोयल ने वर्ल्डं क्लाकस एयरलाइन की शुरुआत कर भारत का मान बढ़ाया था. यह आर्थिक नीति बनाने वाले लोगों के लिए एक अलर्ट है.बता दें कि जेट एयरवेज का नियंत्रण अभी तक नरेश गोयल के पास था जिनके पास 51 प्रतिशत हिस्सेदारी है. अबुधाबी स्थित एतिहाद एयरवेज के पास 24 प्रतिशत हिस्सेदारी है. बता दें कि पैसों की कमी की वजह से बीते कुछ दिनों में जेट एयरवेज ने अपनी 40 से ज्या दा विमानों को खड़ा कर दिया. जेट एयरवेज पर कर्ज की बात करें तो 8,200 करोड़ रुपये का है और उसे मार्च अंत तक 1,700 करोड़ रुपये भुगतान करने हैं. दरअसल, बीते दिनों मीडिया में ऐसी खबरें आईं कि खाड़ी की एयरलाइन कंपनी एतिहाद एयरवेज नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज को उबारने के लिए 1,600 से 1,900 करोड़ रुपये का निवेश करने वाली है. इस निवेश के साथ ही यह शर्त थी कि नरेश गोयल को एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज के चेयरमैन पद से इस्तीफा देना होगा. इसके अलावा जिन बैंकों का कर्ज जेट एयरवेज पर है, उनका भी नरेश गोयल के इस्तीाफे का दबाव बढ़ रहा था. नरेश गोयल के इस्तीजफे की खबर के बीच कारोबार के दौरान जेट एयरवेज के शेयर में 17 फीसदी तक का इजाफा हुआ. कारोबार के दौरान जेट एयरवेज का शेयर प्राइस 266 रुपये तक पहुंच गया जबकि बाजार बंद होने पर कंपनी का शेयर 254.50 रुपये के भाव पर रहा. जेट एयरवेज के शेयर में इतनी बड़ी बढ़ोतरी करीब दो महीने पहले देखने को मिली थी. जेट एयरवेज के शेयर का 52 हफ्ते का उच्च तम 650.50 रुपये है जबकि न्यूरनतम स्तदर 163 रुपये है. वर्तमान में कंपनी की मार्केट कैप 2,891.05 करोड़ है.  माल्या का कहना है कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को उसने जो पत्र लिखे थे उन्हें पढ़ने में भाजपा प्रवक्ता ने वाकपटुता दिखाई और आरोप लगा दिया कि यूपीए सरकार के वक्त सरकारी बैंकों ने किंगफिशर एयरलाइंस को गलत तरीके से सपोर्ट किया था। मीडिया ने मुझे मौजूदा प्रधानमंत्री को पत्र लिखने को मजबूर कर दिया। मुझे आश्चर्य है कि एनडीए सरकार में अब क्या बदल गया है। माल्या पर भारतीय बैंकों के 9,000 करोड़ रुपए बकाया हैं। उसकी किंगफिशर एयरलाइंस ने बैंकों से लोन लिया था। जिसे माल्या नहीं चुका पाया और मार्च 2016 में लंदन भाग गया। लंदन की अदालत और वहां का गृह विभाग माल्या के प्रत्यर्पण की मंजूरी दे चुके हैं। माल्या ने इस फैसले के खिलाफ लंदन के हाईकोर्ट में अपील की है। माल्या को मुंबई स्थित प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) अदालत भगोड़ा घोषित कर चुकी है। भगोड़ा आर्थिक अपराधी कानून-2018 के तहत माल्या पहला अपराधी है जिसे भगोड़ा घोषित किया गया है।

 

 

 



V.K Sharma
Editor in Chief
Live Tv
»»
Video
»»
Top News
»»
विशेष
»»


Copyright @ News Ground Tv