Breaking News
पीएम मोदी को NDA संसदीय दल ने चुना अपना नेता , राष्ट्रपति से मिलकर पेश किया सरकार बनाने का प्रस्ताव , कहा सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास हमारा मंत्र - मोदी  |  CBSE Board 2019 : 10वीं और 12वीं कंपार्टमेंट की डेटशीट जारी, जाने पूरी जानकारी ।  |  शिव की भक्ति में लीन पीएम मोदी पहुंचे केदारनाथ धाम ,पूजा-अर्चना के बाद लिया पुनर्निर्माण कार्यों का जायजा,12250 फीट की ऊंचाई पर गुफा में करेंगे ध्यान !   |  गोरखपुर: लोकसभा चुनाव 2019 को शांतिपूर्ण कराने के लिए पंजाब पुलिस ने किया फ्लैग मार्च  |  लोकसभा चुनाव 2019: छुटपुट हिंसा के बीच छठे चरण में 65.5% मतदान 7 राज्यों की 59 सीटों पर संपन्न हुआ, दिल्ली में 63.48% मतदान हुआ, जानिए किस राज्य में कितने प्रतिशत मतदान हुआ।  |  राहुल के गढ़ में स्मृति के समर्थन में अमित शाह ने किया रोड शो, गांधी परिवार पर कसे तंज !   |  दिल्ली/ रोड शो के दौरान युवक ने केजरीवाल को थप्पड़ मारा, सिसोदिया बोले- मोदी-शाह अब केजरीवाल की हत्या करवाना चाहते हैं?  |  कांग्रेस प्रत्याशी मकसूदन त्रिपाठी ने पिपराइच विधानसभा क्षेत्र में किया जनसंपर्क  |  CBSE Board 12th Result 2019: सीबीएसई 12वीं के नतीजे घोषित, ऐसे चेक करें 12वीं का रिजल्ट !  |  संयुक्त राष्ट्र के वैश्विक आतंकी घोषित होने के बाद कौड़ियों का मोहताज होगा मसूद, जानिए क्या होगा प्रतिबंधों का असर !  |  
अपराध
By   V.K Sharma 16/03/2019 :13:19
भारत ने की मसूद अजहर की नई घेराबंदी, अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन भी चीन से कर रहे हैं बात तीनों इस बार निर्णायक लड़ाई के मूड में !
Total views  235


 

नई दिल्ली (न्यूज़ ग्राउंड) आकाश मिश्रा : जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकियों की सूची में डालने के प्रयास में अड़ंगा लगा रहे चीन को समझाने की आखिरी कोशिश शुरू हो गई है। अगर वह नहीं मानता है तो तीनों महाशक्ति इस बार निर्णायक लड़ाई के मूड में हैं। मसूद मामले पर सुरक्षा परिषद में ओपन वोटिंग भी कराई जा सकती है। हालांकि, अभी तीनों का प्रयास है कि चीन को कैसे भी मना लिया जाए। सूत्रों का कहना है कि चीन की मांग के मुताबिक मसूद के प्रस्ताव के भाषा में कुछ बदलाव भी किया जा सकता है। भारत मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित कराने के लिए चौतरफा दबाव बनाए हुए हैं। उधर, अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने मसूद के पक्ष में चीन के वीटो के बाद अब खिलाफ सख्त रुख अपना लिया है। जहां भारत ने चीन द्वारा इस प्रस्ताव पर वीटो लगाने पर निराशा जताई है, वहीं अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन अब भी इस मामले पर चीन के साथ चर्चा कर रहे हैं। यदि तीनों देशों के इस प्रयास के बावजूद भी अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित नहीं किया जाता है तो तीनों देश यूएन की सबसे शक्तिशाली शाखा (यूनाइटेड नेशन जनरल असेंबली) में इस मुद्दे पर खुली बहस के प्रस्ताव पर भी विचार कर रहे हैं। तीनों देश इस मुद्दे को ध्यान में रखते हुए पिछले 50 घंटे से चीन के साथ 'सकारात्मक' चर्चा कर रहे हैं।  वहीं भारत के अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि भारत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की प्रतिबंध कमिटी के साथ मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करने पर अब भी काम कर रहा है। सूत्रों ने बताया कि भारत इस मामले में जितना संभव होगा, उतना संयम बरतेगा। हम सावधान और आशावान हैं कि मसूद को प्रतिबंधित किया जाएगा। चीन को पाकिस्तान के साथ कई मुद्दों को सुलझाना है। हमारे पास 14 सदस्यों का समर्थन है।

 




V.K Sharma
Editor in Chief
Live Tv
»»
Video
»»
Top News
»»
विशेष
»»


Copyright @ News Ground Tv