Breaking News
पीएम मोदी को NDA संसदीय दल ने चुना अपना नेता , राष्ट्रपति से मिलकर पेश किया सरकार बनाने का प्रस्ताव , कहा सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास हमारा मंत्र - मोदी  |  CBSE Board 2019 : 10वीं और 12वीं कंपार्टमेंट की डेटशीट जारी, जाने पूरी जानकारी ।  |  शिव की भक्ति में लीन पीएम मोदी पहुंचे केदारनाथ धाम ,पूजा-अर्चना के बाद लिया पुनर्निर्माण कार्यों का जायजा,12250 फीट की ऊंचाई पर गुफा में करेंगे ध्यान !   |  गोरखपुर: लोकसभा चुनाव 2019 को शांतिपूर्ण कराने के लिए पंजाब पुलिस ने किया फ्लैग मार्च  |  लोकसभा चुनाव 2019: छुटपुट हिंसा के बीच छठे चरण में 65.5% मतदान 7 राज्यों की 59 सीटों पर संपन्न हुआ, दिल्ली में 63.48% मतदान हुआ, जानिए किस राज्य में कितने प्रतिशत मतदान हुआ।  |  राहुल के गढ़ में स्मृति के समर्थन में अमित शाह ने किया रोड शो, गांधी परिवार पर कसे तंज !   |  दिल्ली/ रोड शो के दौरान युवक ने केजरीवाल को थप्पड़ मारा, सिसोदिया बोले- मोदी-शाह अब केजरीवाल की हत्या करवाना चाहते हैं?  |  कांग्रेस प्रत्याशी मकसूदन त्रिपाठी ने पिपराइच विधानसभा क्षेत्र में किया जनसंपर्क  |  CBSE Board 12th Result 2019: सीबीएसई 12वीं के नतीजे घोषित, ऐसे चेक करें 12वीं का रिजल्ट !  |  संयुक्त राष्ट्र के वैश्विक आतंकी घोषित होने के बाद कौड़ियों का मोहताज होगा मसूद, जानिए क्या होगा प्रतिबंधों का असर !  |  
स्वास्थ्य
By   V.K Sharma 15/03/2019 :10:20
पंजाब के 40 फीसदी लोगों को दिल की बीमारियों और स्ट्रोक का खतरा
Total views  263
चंडीगढ़ दिल की बीमारियों और स्ट्रोक (मस्तिष्क आघात) से होने वाली मौतों की दर पजांब में लगातार बढ़ रही है। प्रत्येक पांच में से दो पंजाबी उच्च रक्तचाप (हाई बल्ड प्रैशर) का शिकार हैं। जिसे आमतौर पर मेडिकल भाषा में हाईपरटेंशन भी कहते हैं, जो कि र्डियोवस्कूलर बीमारियों के होने का प्रमुख कारण भी है। मोहाली आधारित सामाजिक संगठन जनरेशन सेवियर एसोसिएशन तथा दिशा फाउंडेशन द्वारा डाक्टरों, स्वास्थ विभाग के अधिकारियों, फूड एंव ड्रग विभाग के अधिकारियों, सिविल सोसायटी प्रतिनिधियों के लिए आयोजित संगोष्ठी में ट्रांस फैट की मात्रा कम करने तथा उसके निर्धारण करने की जरूरत पर बल दिया गया।

कार्यशाला में विषय विशेषज्ञों ने समय-समय पर हुई शोध पर आधारित अपनी रिपोर्ट पेश की। रिपोर्ट में बताया गया कि अधिक मात्रा में ट्रांस फैट युक्त भोजन के कारण हर साल पंजाब में 2300 लोगों की मौत हो जाती है, जिन्हें की बचाया जा सकता है। पंजाब की 40
प्रतिशत से भी अधिक आबादी हाई बल्ड प्रेशर से जूझ रही है और कि बाकी की 40 प्रतिशत आबादी में भी हाई ब्लैड प्रैशर का शिकार होने के लक्षण काफी ज्यादा है। पंजाब देश में सबसे अधिक वनस्पती तेल का उपभोग करने वाला राज्य है। स्वास्थ्य विभाग पंजाब के सहायक डायरेक्टर डॉ.जी.बी सिंह ने सरकार द्वारा हाई बल्ड प्रेशर की रोकथाम के लिए उठाए जा रहे कदमों के बारे में बताते हुए कहा कि विभाग द्वारा 30 वर्ष से ऊपर के हर एक व्यक्ति के बल्ड प्रैशर की जांच करके उन्हें उपचार भी मुहैया करवाया जा रहा है। पंजाब खाद्य एंव ड्रग विभाग के संयुक्त आयुक्त डॉ.अनूप कुमार ने कहा की लोगों तथा आने वाली पीढ़ी की अच्छी सेहत तथा हाई ब्लड प्रेशर से होने वाली मौतों को रोकने के लिए जरूरी है की औघोगिक रूप से उत्पादित ट्रांस फैटी एसिडस को अपनी खाद्य प्रणाली से बाहर निकाला जाए। दिल्ली यूनिर्वसिटी की सहायक प्रोफेसर डॉ. ईरमा राओ ने कहा कि ऐसी टैक्नालजी उपल्बध है जिससे ट्रांस फैट को खाद्य पदार्थों से स्वास्थ्यवर्धक फैट में बदला जा सकता है। जनरेशन सेवियर एसोसिएशन की अध्यक्ष उपींदरप्रीत कौर गिल ने ट्रांस फैटस के सेहत पर पडऩे वाले बुरे प्रभावों के बारे में आम लोगों को सीमित जानकारी है। फू ड सेफ्टी अथारिटी ऑफ इंडिया द्वारा साल 2022 तक देश में खाने वाले तैलीय पदार्थ तथा अन्य वसायुक्त पदार्थों में ट्रांस फैट की मात्रा 2 प्रतिशत करने का नियम भी पारित किया गया है। सरकार की तंदरूस्त पंजाब मुहिम की प्रशंसा करते हुए दिशा फाउंडेशन की अध्यक्ष डॉ. अंजली भोराड़े ने कहा कि सरकार तंदरूस्त पंजाब मुहिम को और अधिक कामयाब बनाने के लिए लोगों को हाई बल्ड प्रेशर के बारे में अधिक से अधिक जागरूक करे।



V.K Sharma
Editor in Chief
Live Tv
»»
Video
»»
Top News
»»
विशेष
»»


Copyright @ News Ground Tv