Breaking News
राम के लिए रो पड़े गोरखपुर के सांसद रवि किशन  |  Live : अयोध्या से राम मंदिर भूमिपूजन का सीधा प्रसारण !  |  हिमालय से भी विराट व्यक्तित्व है इन्द्रेश कुमार  |  दिल्ली दंगो का मास्टरमाइंड ताहिर हुसैन का कबूलनामा - मैं हिंदुओं को सबक सिखाना चाहता था, जांच में कई चौंकाने वाले खुलासे !  |  वामपंथ वहीं है, जहां दूसरे विचारों के लिए जगह नहीं है-भूपेंद्र यादव  |  जल बोर्ड की पाइप लाइन से रिसाव के कारण घरों में घुसा पानी, जेई ने किया क्षेत्र का दौरा  |  फ्रांस से भारत के लिए 5 राफेल विमान रवाना, 29 जुलाई तक अंबाला एयरबेस पहुंचेंगे !  |  प्रशासनिक सेवाओं का सितारा अभिषेक सिंह अब बॉलीवुड में चमकने को तैयार  |  दिल्ली के दयालपुर में 14 साल की बच्ची का यौन शोषण !  |  लद्दाख से राजनाथ सिंह का चीन को सख्त संदेश- दुनिया की कोई ताकत नहीं छीन सकती एक भी इंच जमीन !  |  
न्यूज़ ग्राउंड विशेष
By   V.K Sharma 19/12/2018 :14:41
2011 में हुआ कौन सा काण्ड जिसने अशोक गहलोत की सरकार को हिला डाला था !
 
भंवरी देवी कांड ने हिला दी थी गहलोत सरकार की कुर्सी, अब आरोपियों के बच्चो को कांग्रेस ने बनाया प्रत्याशी , भंवरी देवी कांड की वजह से राजस्थान के सियासी गलियारों में भूचाल आ गया था.

 

 


 

 

नई दिल्ली : वर्तमान 2018 में राजस्थान विधानसभा चुनावो में कांग्रेस को मिली जीत के बाद अशोक गहलोत को सीएम बनने के बाद फिर कुछ पुरानी बातो की यादें ताजा हो चली है अशोक गहलोत का नाम आते ही भंवरी देवी काण्ड फिर जेहन में आ जाता है राजस्थान में अशोक गहलोत की कुर्सी हिला देने वाला भंवरी देवी कांड एक बार फिर चर्चा में है. साल 2011 में हुए इस कांड की वजह से राजस्थान के सियासी गलियारों में भूचाल आ गया था. अब यह कांड दोबारा चर्चा में इसलिए आया है, क्योंकि इसके मुख्य आरोपी पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा की बेटी दिव्या मदेरणा और पूर्व विधायक मलखान सिंह बिश्नोई का बेटा महेंद्र बिश्नोई को कांग्रेस ने चुनाव में प्रत्याशी बनाया था दिव्या को जोधपुर के ओसियां तो महेंद्र बिश्नोई को लूणी विधानसभा सीट से उतारा गया है. ओसियां विधानसभा सीट जाट समुदाय बहुल है. दिव्या के दादा परसराम मदेरणा क्षेत्र में बड़े जाट नेता हुआ करते थे.

क्या है भंवरी देवी कांड, जिसने ला दिया था भूचाल? कौन थी भंवरी देवी?

भंवरी देवी जोधपुर के पास एक सरकारी अस्पताल में नर्स थीं. नट समुदाय से ताल्लुक रखने वाली भंवरी देवी राजस्थानी फिल्मों और एल्बम में भी काम करती थीं. उन्होंने बतौर एक्ट्रेस कई फिल्मों में काम किया. वह खुद का एल्बम लाना चाहती थी. वह एक्टिंग के काम के लिए अक्सर शहर से बाहर रहती थीं. जिसकी वजह से वह ड्यूटी से नदारद रहती थीं. जब ज्यादा दिन तक वह नदारद रहने लगीं तो उसे नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया. इसके बाद वह स्थानीय विधायक मलखान सिंह बिश्नोई से मिलने गई, उन्होंने उसकी मुलाकात महिपाल मदेरणा से करवाई. रिपोर्ट्स के मुताबिक इसके बाद भंवरी की नौकरी दोबारा से बहाल हो गई. बाद में भंवरी देवी की मलखान सिंह और महिपाल से नजदीकियां हो गईं. यह सब होने के बाद भंवरी देवी की सियासी गलियारों में जान पहचान हो गई और उसने स्थानीय लोगों के काम करवाने शुरू कर दिए.

 

 

 

विधायक बनना चाहती थी भवरी देवी की

फिर भंवरी देवी के मन में राजनीति में आने का विचार आया. भंवरी ने विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस से टिकट मांगा. इसके लिए उसने महिपाल और मलखान सिंह पर दबाव बनाना शुरू कर दिया. जब उसे लगा कि उसे टिकट नहीं मिलेगा तो भंवरी ने ऐलान किया कि उसके पास एक ऐसी सीडी है, जिससे तीन दिन में गहलोत सरकार गिर जाएगी. भंवरी के इस एलान के बाद दोनों नेताओं ने उससे दूरी बना दी.

लाखों रुपए मांगने का आरोप

भंवरी पर आरोप लगाया गया था कि उसने सीडी देने के लिए करीब लाखों रुपए में दोनों से सौदा किया था. यह वहीं सीडी थी, जिसमें उसने दावा किया था इसमें महिपाल और मलखान सिंह के अंतरंग सीन हैं. इसके बाद भंवरी देवी लापता हो गई थीं. भंवरी के पति कई दिनों तक इस मामले पर चुप रहे और बाद में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई और मंत्री महिपाल मदेरणा पर इसका आरोप लगाया था. पुलिस मामले को सुलझाने में नाकाम रही तो मामला सीबीआई को सौंप दिया गया. मामला ज्यादा बढ़ा तो महिपाल मदेरणा को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा. महिपाल मदेरणा और मलखान अभी दोनों जेल में हैं. सीबीआई ने इस मामले में 17 लोगों को आरोपी बनाया था. मामला अभी कोर्ट में लंबित है



V.K Sharma
Editor in Chief
Live Tv
»»
Video
»»
Top News
»»
विशेष
»»


Copyright @ News Ground Tv